ऑनलाइन लोन देने के नाम पर आपके साथ भी हो सकता है धोखा, जानिए पूरी जानकारी

अगर आप भी मोबाइल ऐप्स की मदद से ऑनलाइन लोन लेने के बारे में सोच रहे हैं या आप किसी app से लोन ले चुके हैं तो आपको इस पोस्ट को जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि, इस पोस्ट में बताया गया है की किस तरह से कुछ लोग आपको फेक apps बनाकर ठगने की कोशिश कर सकते हैं और आप किस तरह से ऐसे ऐप के चंगुल से निकल सकते हैं।

कुछ ही महीनों पहले ऐसा ही मामला सामने आया है, जिसमें कुछ लोग अपने मोबाइल ऐप की मदद से, लोगों को ठगने का काम करते थे। आपको बता दें की पुलिस ने इस group का भंडा फोड़ करते हुए 5 लोगों को गिरफ्तार किया है।

आपको बता दें की ये लोग अपने ऐप में कस्टमर्स को 2 महीने के लिए इंट्रेस्ट फ्री लोन देने का वादा करते, जैसे ही कस्टमर ने लोन लिया, उसके एक दिन बाद ही ये लोग पीड़ित के मोबाइल को हैक करके, उसके घरवालों और रिश्तेदारों को फोन करके, उनसे लोन अमाउंट से ज्यादा की रकम मांगते हैं। इस फ्रॉड में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी दिल्ली, यूपी और हरियाणा के अलग-अलग शहरों से हुई है।

ऑनलाइन धोखाधड़ी, लोन के नाम पर धोखाधड़ी, online loan ke naam par fraud

कोलकाता के एक शख्स ने 15 मार्च को साइबर क्राइम को पूरे मामले के बारे में जानकारी दी, कि पिछले कुछ दिनों से उनके और उनके रिश्तेदारों के पास अंतरराष्ट्रीय नंबरों से व्हाट्सएप कॉल की जा रही थी। उनसे कॉल पर बोला जा रहा था कि आपने जो लोन लिया है वह वापस कर दे, जबकि उन्होंने कोई लोन लिया ही नहीं है।

फोन कॉल पर उन लोगों के द्वारा बहुत ही अश्लील भाषा का इस्तेमाल किया जा रहा था पीड़ित के शिकायत करने पर, पुलिस ने FIR दर्ज की और जांच शुरू कर दी। जांच के दौरान ही दिल्ली पुलिस को यह बात भी पता चली कि जिन नंबरों से पीड़ित को कॉल किया जा रहा था, बे नंबर धोखाधड़ी से हासिल किए गए हैं, जिनमें से ज्यादातर नंबर असम और पश्चिम बंगाल के इलाकों के थे।

दिल्ली पुलिस ने आरोपियों तक पहुंचने के लिए उनकी लोकेशन ट्रैक की, फिर मनी ट्रांसफर गेटवे के जरिए पुलिस ने आरोपियों का पता लगाया। इसके बाद दिल्ली के बिजवासन इलाके से, सबसे पहली गिरफ्तारी सोनू सिंह नाम के शख्स की की गई।

इस पूरे मामले में अब तक कुल 5 गिरफ्तारियां की जा चुकी है सोनू की गिरफ्तारी करने के बाद पुलिस ने विकास सिंह नाम के व्यक्ति को भी फर्रुखाबाद इलाके से गिरफ्तार किया। दोनों व्यक्तियों के पास से बे मोबाइल भी बरामद हुए जिनसे यह दोनों आरोपी, लोगों को फोन पर धमकी देते हैं। इसके बाद पुलिस ने 2 लोगों की गिरफ्तारी और की जिनके नाम हरप्रीत और विकास हैं।

पुलिस द्वारा बताया गया कि आरोपियों का एक ऐप है, जिसे डाउनलोड करने पर कस्टमर से ऐप पर अलग-अलग तरह की परमिशन मांगी जाती है, जिसकी मदद से आरोपी लोगों का नंबर प्राप्त कर पाते हैं और उन्हें ठगी का शिकार बनाने के लिए कॉल आदि करते हैं। पुलिस ने बताया किए आरोपी लोगों से इकट्ठे किए गए पैसे को, “कृष्णा” नाम के एक व्यक्ति को, क्रिप्टो करेंसी में बदलकर चीन भेज देते हैं। फिलहाल पुलिस इस गैंग के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए लगातार आरोपियों से पूछताछ कर रही है।


तो देखा दोस्तों आपको किस तरह से ढगने के लिए कुछ गलत विचारधारा के व्यक्ति, किस तरह से नए-नए तरीकों से आप तक पहुंच सकते हैं। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि, आप ऐसे किसी भी ऐप पर अपनी इंफॉर्मेशन को देने से बचें जिसके बारे में आपको पूरी जानकारी नहीं है या उस ऐप को बहुत ज्यादा लोगों ने अभी डाउनलोड करके इस्तेमाल नहीं किया है।

इस तरह के लोन देने वाले apps से कैसे बचें?

वैसे तो बहुत सारे ऐप्स स्टोर भी इस बात का ध्यान रखते हैं कि उनके प्लेटफार्म पर कोई भी इस तरह का ऐप मौजूद न हो जो लोगों को ठगने का काम कर रहा है लेकिन, कुछ लोगों द्वारा बहुत सारे छोटे-छोटे ऐप, थोड़े समय के लिए ही सही ऐप स्टोर पर पब्लिक कर दिए जाते हैं, ताकि लोगों को ठगा जा सके। इस तरह की ऐप्स में फीडबैक में भी आपको कोई नेगेटिव कमेंट देखने को नहीं मिलता है क्योंकि, ऐसे ऐप द्वारा, अपने ऐप पर ज्यादा से ज्यादा पॉजिटिव फेक फीडबैक दिलाए जाते हैं।

इस तरह की ऐप से बचने के लिए आपको किसी भी ऐप को डाउनलोड करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी गूगल या यूट्यूब के माध्यम से ले लेनी चाहिए। उसके बाद भी अगर वह ऐप आपको सही लगता है तो, ऐप को डाउनलोड करने के बाद देखें की वह ऐप आपसे क्या-क्या परमिशन मांग रहा है, पूरी तरह से पढ़ने के बाद ही ऐप को परमिशन दें।

online माध्यम से लोन लेना आसान तो है लेकिन, उससे पहले आपको उस ऐप के बारे में पूरी जानकारी google और यूट्यूब आदि के माध्यम से ले लेनी चाहिए। अगर आपको किसी एप्लीकेशन को अपने mobile में डाउनलोड करने पर, आपको अंतरराष्ट्रीय नंबरों द्वारा व्हाट्सएप पर या नॉर्मल कॉल पर किसी भी व्यक्ति द्वारा परेशान किया जाता है या आपको ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाने की कोशिश की जाती है तो, आप साइबर क्राइम में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

साइबर क्राइम से संबंधित अन्य जानकारी के लिए या इस तरह की कोई भी शिकायत दर्ज कराने के लिए आप cybercrime.gov.in वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं और हेल्पलाइन नंबर 1930 पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

अन्तिम शब्द :-

हमें आशा है कि आपको यह post जरूर पसंद आई होगी और आपको इस पोस्ट से बहुत कुछ सीखने को मिला होगा। अगर आपको अभी भी इस पोस्ट से संबंधित कोई question पूछना है तो आप comment box में पूछ सकते हैं। आपको यह पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताएं और यदि आप ऑनलाइन ऐप के माध्यम से लोन लेना ही चाहते हैं, तो आप हमारी यह पोस्ट पढ़ सकते हैं जिसमें हमने बताया है कि, ऐसे कौन से शानदार मोबाइल एप्स है इन के माध्यम से आप कम से कम समय में पर्सनल लोन ले सकते हैं

4.5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

लड़कियों के बारे में अनसुने तथ्य। लड़की को इम्प्रेस करने के अचूक तरीके दुल्हन ने रात में सात फेरे लिए, सुबह ही तोड़ दी शादी, कहा… PUBG के लिए बेटे ने की माँ की हत्या, जानिए पूरा मामला 2022 में पॉकेट मनी के लिए पैसा कमाने वाले ऐप्स