अरे बाप रे! इतना बड़ा फर्जीवाड़ा, शुरू की SBI की फर्जी ब्रांच: कैसे हुआ भंडाफोड़?

खबर तमिलनाडु राज्य की है जहाँ, SBI बैंक की फर्जी ब्रांच चला रहे तीन लोगों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है। ये एक-दो नहीं बल्कि पिछले कई महीनों से लोगों को बेबकूफ बना रहे थे।

कुछ लोग आम लोगों को ठगने के लिए बड़े ही अलग-अलग तरह की तरकीब निकालकर लाते हैं, यह उन्हीं में से एक है। खबर है की बैंक की यह ब्रांच पिछले लगभग 3 महीनों से चलाई जा रही थी और काम इतनी सफाई से किया जा रहा था की, इतने दिन तक लोगों को इसके फर्जी होने पर शक भी नहीं हुआ। फिलहाल पुलिस ने इन तीनों अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

तमिलनाडु पुलिस द्वारा जानकारी दी गई की, पनरूति शहर में इन तीनों लोगों को असामान्य अपराध में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उसमें पूर्व बैंक कर्मचारी का पुत्र भी शामिल है।

बैंक में क्या कार्य करते थे अपराधी –

खबर है की इस पूरी प्लानिंग और फर्जीवाड़े में कमल बाबू नाम के व्यक्ति का अहम रोल था।कमल के माँ-बाप पूर्व बैंक कर्मचारी थे। 10 साल पहले ही कमल के पिता की मौत हो चुकी है और माता अभी 2 साल पहले ही बैंक से रिटायर्ड हुई हैं। माता-पिता बैंक कर्मचार्री थे शायद इसी कारण कमल को इन सब चीजों की काफी अच्छी जानकारी थी।

इस अपराध में शामिल दूसरा व्यक्ति प्रिंटिंग प्रेस चलाने वाला तथा तीसरा अपराधी रबर स्टैम्प छापने का कार्य करता था।

नकली चालान का फ्रॉड –

प्रिंटिंग प्रेस चलाने वाला व्यक्ति प्रिंटिंग प्रेस की मदद से नकली डाक्यूमेंट्स और चालान आदि तैयार करता था और रबर स्टैम्प की दूकान से बैंक के स्टैम्प लगाने का काम किया जाता था। इन सब चीजों से पता चलता है की कितनी छोटी-छोटी चीजों को ध्यान रखते हुए फ्रॉड को बड़ी ही सफाई से किया जा रहा था।

कैसे पकड़े गए तीनों अपराधी –

यह शाखा असली SBI के ब्रांच मैनेजर की नजर में तब आई जब एक ग्राहक ने पनरुति में मौजूद इस नकली शाखा की शिकायत असली वाली ब्रांच के मैनेजर से की। इसने SBI के जोनल अधिकारी को भी चौका दिया इसके बाद पुलिस को इसकी जानकारी दी गई।

पनरूति में हैं 2 SBI की ब्रांच –

पनरूति में पहले से ही 2 एसबीआई ब्रांच हैं, उसके बाद भी इन अपराधियों का मनोवल देखिए की किस तरह से जनता को ठगने का कैसा अनोखा तरीका लगाया। मैनेजर भी यह देखकर चौक गया की की यह तीसरी नयी शाखा कैसी आ गयी क्योंकि, इसका तो कागजो में कोई रिकॉर्ड ही नहीं है।

जब बात ऊपर तक पहुंची तो SBI की टीम द्वारा इस जगह का दौरा करने करने पर पाया की बिलकुल SBI की असली ब्रांच की तरह ही नकली धंधा चल रहा है, जिसकी बाद पुलिस को इसकी जानकारी दी गई और पुलिस ने इन तीनों लोगों को गिरफ्तार किया।

Leave a Comment