जिंदगी में कभी पैसे की कमी नहीं आएगी, अगर ब्रस्पति देवता के ये मंत्र पता हैं तो

हिंदुओं की धार्मिक पुस्तकों में प्रत्येक दिन भगवान के किसी न किसी रूप को समर्पित बताया गया है। जिसमें बृहस्पतिवार को ‘बृहस्पति देव’ के लिए समर्पित बताया गया है। ऐसा कहा जाता है कि गुरुवार को पूरे विधि-विधान से ‘बृहस्पति देव’ की पूजा करने पर देवता जातक के सभी कष्टों को हर लेते हैं। यदि किसी लड़की की शादी में समस्या आती है तब भी, इन्हीं देवता की पूजा करने और साथ में व्रत रखने पर बिगड़े काम भी बन जाते हैं और शादी में आने वाली समस्याएं भी दूर हो जाती हैं।

कैसे करें बृहस्पति देव की पूजा –

इनकी पूजा करना और इनका मानना बहुत आसान है, इसके लिए सबसे पहले आपको एक थाली लेनी है जिसमें, पीले फूल, गुड़, चने की दाल, केले रख लेने हैं। अगर आपके नजदीक कहीं पर, केले का पेड़ है तो रोज सुबह-सुबह उठकर शौच और स्नान आदि के बाद केले के पेड़ के सम्मुख भगवान ‘बृहस्पति देवता’ की कथा पढ़ें।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

इसके साथ ही गुड़ और चने की दाल का प्रसाद लोगों में बाटें। यदि आसपास में केले का पेड़ न हो या उसके पास जाकर कथा पढ़ना संभव न हो, तो आप घर में ही भगवान बृहस्पति देव का सच्चे मन से ध्यान करके पूजा कर सकते हैं। केवल आरती ने पढ़े बल्कि कथा पढ़ने के पश्चात आरती पढ़ें और फिर प्रसाद को सभी में बाँटकर ग्रहण करें।

गुरुवार को करें इन मंत्रों का जप –

1.ॐ अस्य बृहस्पति नम: (शिरसि)
2.ॐ अनुष्टुप छन्दसे नम: (मुखे)
3.ॐ सुराचार्यो देवतायै नम: (हृदि)
4.ॐ बृं बीजाय नम: (गुहये)
5.ॐ शक्तये नम: (पादयो:)
6.ॐ विनियोगाय नम: (सर्वांगे)
स.करन्यास मंत्र
1.ॐ ब्रां- अंगुष्ठाभ्यां नम:
2.ॐ ब्रीं- तर्जनीभ्यां नम:
3.ॐ ब्रूं- मध्यमाभ्यां नम:
4.ॐ ब्रैं- अनामिकाभ्यां नम:
5.ॐ ब्रौं- कनिष्ठिकाभ्यां नम:
6.ॐ ब्र:- करतल कर पृष्ठाभ्यां नम:

करन्यास के पश्चात सच्चे मन से करें देवता का आभार –

  • ॐ ब्रां- हृदयाय नम:.
  • ॐ ब्रीं- शिरसे स्वाहा.
  • ॐ ब्रूं- शिखायैवषट्.
  • ॐ ब्रैं कवचाय् हुम.
  • ॐ ब्रौं- नेत्रत्रयाय वौषट्.

इस दिन पहने पीले कपड़े –

बृहस्पतिवार को पीले कपड़े पहनना बहुत शुभ माना गया है। धार्मिक पुस्तक बताती हैं कि इस दिन पीले कपड़े पहनने से बृहस्पतिदेवता खुश होकर अपने भक्त के मन की इच्छाओं को को पूरा करते हैं। लेकिन ध्यान देने वाली बात है कि इस दिन गलती से भी लाल या काले रंग के कपड़े न पहने।

अगर आप उपरोक्त दिन सभी बातों को ध्यान रखकर बृहस्पति देवता को प्रसन्न करने की कोशिश करेंगे तो, भगवान आपके सभी दुःखों को नाश जरूर करेंगे।

Disclaimer – इस आर्टिकल में बताई गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं के आधार पर लिखी गई है। HindiRaja,in इनकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनमें से किसी भी बात को फॉलो करने से पहले इस विषय के जानकार से एक बार परामर्श जरूर कर लें।

Leave a Comment