दिन के हिसाब से करें पूजा, खुद देख पाएंगे चमत्कार और मिलेगा कई गुना फल

ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से सप्ताह का प्रत्येक दिन किसी न किसी देवी-देवता (एक ईश्वर के अनेक रूप) को समर्पित होता है। दिन के अनुसार आप देवी-देवताओं की पूजा करते हैं तो वो कितना फलदायी रहता है आइए विस्तार से जानते हैं –

ज्योतिष शास्त्र हिसाब से सप्ताह के 7 अलग-अलग दिन अलग-अलग देवी-देवता को समर्पित होते हैं। इसमें हर एक दिन का विशेष महत्व, पूजा करने की विधि और उपाय अलग होते हैं, जिसे करने से लाइफ में सकारात्मकता आती है और देवी-देवताओं की कृपा जल्दी प्राप्त होती है।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

शास्त्रो की माने तो रविवार के दिन सूर्य भगवान, सोमवार के दिन चंद्रमा और भगवान शिवजी, मंगलवार के दिन बजरंगवली, बुधवार को गणपित गणेशजी, गुरुवार के दिन देवगुरु बृहस्पति और भगवान विष्णु, शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी जी की पूजा और शनिवार को शनिदेव की पूजा करना बहुत ही शुभ देने वाला होता है।

ईश्वर के किस रूप की पूजा करने से कौन सा लाभ मिलता है –

शास्त्रों के हिसाब से सूर्यदेव की रोज पूजा से आरोग्य का सुख मिलता है जबकि, चंद्रमा की पूजा करने से मन की शांति प्राप्त होती है। हनुमान जी और मंगलदेव की पूजा करने से आत्मविश्वास और साहस में बढ़ोत्तरी होती है। भगवान गणेश जी की पूजा-पाठ से बुद्धि और विवेक बढ़ता है। देवगुरु बृहस्तपति की पूजा से आयु बढ़ती है। भौतिक सुख की प्राप्ति आप शुक्रवार के दिन देवी लक्ष्मी की पूजा कर सकते है। कहते हैं शनिदेव की पूजा करने पर मन से मृत्यु का डर दूर होता है।

सोमवार का दिन भगवान शिव का दिन –

आपका मन यदि अशांत रहता है तो शांति के लिए सोमवार के दिन चंद्रदेव और भगवान शिव की आराधना करना शुभ माना गया है। सोमवार के दिन भगवान शिव के मंदिर जाकर शिवलिंग पर जल अर्पित करें। इससे आपको भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

रविवार को करें सूर्य भगवान की उपासना –

इस धरती पर सूर्यदेवता ही प्रत्यक्ष दिखाई देने वाले देवता हैं, सूर्य देवता की पूजा से इंसान की समाज में इज्जत, साहस और ऊर्जा बढ़ती है। ऐसे में सूर्य देव की कृपा पाने के लिए प्रत्येक दिन सूर्योदय होने पर सूर्य भगवान को जल अर्पित करें। रविवार को तांबे के लोटे में जल, पुष्प और अक्षत डालकर सूर्यदेव को अर्पित करें, आपके जीवन पूरी तरह से बदल जाएगा।

बुधवार को करें गणेशजी की करें पूजा –

बुधवार का दिन शिवजी के पुत्र भगवान गणेश जी को समर्पित होता है। बुधवार के दिन बुध ग्रह को अनुकूल बनाने और गणेशजी का आशीर्वाद पाने के लिए हरी मूंग की दान करें और गणेशजी को दूर्वा घास चढ़ाएं।

मंगलवार को हनुमानजी की करें पूजा –

मंगववार का दिन हनुमान जी को समर्पित होता है और इस मंगल ग्रह को शुभ बनाने के लिए शिवलिंग पर लाल मसूर की दाल अर्पित करनीना चाहिए। मंगलवार के दिन हनुमानजी की उपासना का विशेष महत्व होता है। हनुमान जी की पूजा अगर आप चालीस मंगलवार तक करते हैं तो, आपको हनुमान जी के दर्शन भी हो सकते हैं।

शुक्रवार को करें देवी लक्ष्मी की पूजा-पाठ –

ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से शुक्रवार का दिन शुक्रदेव और देवी लक्ष्मी को समर्पित होता है, शुक्रवार के दिन लक्ष्मीजी की पूजा से जिंदगी में कभी भी सुख-सुविधा की कमी नहीं रहती। देवी लक्ष्मी यदि खुश हों तो, आप जिंदगी में ढेर सारा पाते हैं।

गुरुवार को करें बृहस्पतिदेव की पूजा –

देवगुरु को खुश करने के लिए गुरुवार को पीली चीजों का दान करना चाहिए और इस दिन शिवलिंग पर चने की दाल और बेसन के लड्डू चढ़ाने चाहिए।

शनिवार को शनिदेव की उपासना के लाभ –

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए इस दिन शनिदेव शनिदेव की पूजा करनी चाहिए। इस दिन पूजा से कुंडली से शनि दोष को खत्म करने में सहायता मिलती है। शनिवार के दिन शनि भगवान को तेल चढ़ाने और हनुमान चालीसा का पाठ करने से जिंदगी में आने वाली परेशानी से लड़ने की शक्ति प्राप्त होती है। जब हनुमान जी आपसे प्रश्न होते हैं तो, आपके सारे दुश्मन खुद ही समाप्त होने लगते हैं और आप कम समय में सफलता के मार्ग पर तेजी से आगे बढ़ने लगते हैं।

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सिर्फ मान्यताओं और सामान्य जानकारियों को जुटाकर बताई गई है। आपको बता दें की HindiRaja.in इनमें से किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी को फूलो करने से पहले इस बिषय के जानकार से सलाह जरूर लें।

Leave a Comment