शिमला मिर्च की खेती खेती ने कर दिया मालामाल, किसान ने प्रयोग की यह विधि

आपको प्रेरित करने वाली यह खबर हरियाणा राज्य की है। जहाँ करनाल जिले के रहने वाले पवन जी ने नेट हाउस विधि का प्रयोग करके खीरा और शिमला मिर्च की खेती की, और बहुत ही कम समय में कई लाख रूपये का मुनाफा कमाया।

आधुनिक कृषि चुनें: जो किसान आज भी पुराने तरीके से खेती कर रहे हैं उनको खेती में कोई मुनाफा नजर नहीं आ रहा है जबकि, जो किसान पुराने तरीकों को छोड़ आधुनिक खेती की जानकारी लेकर, उसका प्रयोग कर रहे हैं वह काफी अच्छा लाभ कमा रहे हैं।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

नई विधि को चुनने का ही परिणाम है कि सगोही गांव के रहने वाले पवन जी शिमला मिर्च की खेती से लाखों रूपये महीना कमा रहे हैं, जबकि बहुत सारे किसानों को इसमें घाटा भी होता है।

10 लाख तक पहुँचता है मुनाफा:

पवन जी ने खुद बताया कि वह पिछले कई साल से इसी नेट हाउस विधि से खेती कर रहे हैं जिसमें खीरा और शिमलामिर्च की अच्छी पैदावार कर रहे हैं। अगर शिमलामिर्च से होने वाले मुनाफे की बात करें तो, वह एक नेट हाउस से लगभग 5 से 10 लाख रूपये तक का मुनाफा कमा लेते हैं।

सिंचाई के लिए है ड्रिप विधि:

साधारण तरीके से सिंचाई करने में पानी की खपत ज्यादा होती है और उसका इतना लाभ भी नहीं होता जितना ड्रिप सिंचाई के माध्यम से हो पता है। ड्रिप सिंचाई में पौधे की जड़ में बूंद बूंद पानी गिरने से उसे भी ज्यादा लाभ मिलता है।

फसल का समय:

पवन जी के अनुसार वे शिमलामिर्च की खेती को अगस्त के महीने से शुरू करते हैं और नवंबर के आधे महीने के बाद फसल तैयार हो जाती है, इसके बाद तुड़ाई करके(जो की फरवरी-मार्च तक जारी रहती है) बाजार में काफी अच्छे दामों पर बेचा जाता है।

आपको पता ही होगा कि बाजार में शिमला मिर्च की डिमांड काफी ज्यादा है, क्योंकि इसका इस्तेमाल भारतीय, चाइनीस आदि बहुत तरह की डिशेस बनाने में किया जाता है।

नेट हाउस विधि ख़ास क्यों?

इस विधि को चुनने से आपका मुनाफा तो बढ़ता ही है, साथ ही सरकार भी आपकी मदद करती है। थोड़े समय पहले सरकार द्वारा नेट हाउस लगाने पर 65% सब्सिडी दी जाती थी।

आप इसे थोड़ा-सा घटाकर 50% कर दिया गया है लेकिन, अभी भी किसानों को इससे काफी फायदा है। ध्यान रखें अगर आप छोटे स्तर पर भी कृषि करें तो वैज्ञानिक तरीके से कृषि करना ज्यादा मुनाफा देने वाला होगा।

Leave a Comment