देर रात तक पढ़ाई कैसे करें :- वैसे तो हमारे बुजुर्ग कहते हैं कि, हमें सुबह जल्दी उठना चाहिए और पढ़ने के लिए भी सुबह का ही समय अच्छा होता है लेकिन, बहुत सारे बच्चों को सुबह पढ़ने का समय नहीं मिल पाता है या वे सुबह जल्दी नहीं उठ पाते हैं या उनको रात में पढ़ना ज्यादा अच्छा लगता है, क्योंकि शायद उन्होंने किसी से सुन लिया है की होशियार बच्चे रात में पढ़ाई करते हैं।

कारण कुछ भी हो लेकिन अगर आपको भी देर रात तक पढ़ाई करनी है, तो आपको इस पोस्ट को जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि, इसमें बताए गए तरीके को पढ़ने के बाद आप पूरी-पूरी रात बिना नींद के आसानी से पढ़ पाएंगे और ज्यादा से ज्यादा याद भी कर पाएंगे। इस पोस्ट में हम आपको यह भी बताएंगे कि किस समय पढ़ना आपके लिए ज्यादा अच्छा है। तो चलिए पहले प्रश्न के साथ शुरूआत करते हैं –

देर रात तक पढ़ें या सुबह जल्दी उठकर पढ़ें?

बहुत सारे बच्चों का कहना है कि वह किसी भी हालत में सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई नहीं कर सकते हैं जबकि, कुछ बच्चे रात को देर तक जागने में समस्या महसूस करते हैं। आजकल यह चर्चा चल रही है कि जो बच्चे देर रात तक जागकर पढ़ते हैं, वे सुबह जल्दी उठकर पढ़ने वाले बच्चों की तुलना में ज्यादा बुद्धिमान होते हैं, इसकी बजह से बहुत सारे सुबह उठकर पढ़ने वाले विद्यार्थियों ने अपनी पूरी दिनचर्या ही बिगाड़ ली है और अब सभी रात में पढ़ना चाहते हैं।

मैं आपको बता दूँ की पढ़ने में समय (सुबह या शाम) उतना ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है, जितनी ज्यादा आपकी लगन और मेहनत जरूरी है इसलिए, अगर आपको लगता है कि आप सुबह जल्दी नहीं उठ सकते हैं और आपको देर रात तक पढ़ना पसंद है तो, आपको रात में पढ़ना चाहिए और यदि आपको रात को पढ़ना पसंद नहीं आता है तो, आपको सुबह जल्दी उठकर पढ़ना चाहिए।

आपको जिस समय पढ़ना पसंद है आप उसी समय पढ़ेंगे तो आपको आलस और नींद कभी भी नहीं आएगी और आप ज्यादा अच्छे से याद कर पाएंगे। दूसरे बच्चों को देखकर अपने पढ़ने के समय में बदलाब करना आपके स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है ।

देर रात तक पढ़ाई कैसे करें, रात को देर तक पढ़ाई कैसे करें, देर तक पढ़ने के तरीके,

सुबह जल्दी उठकर और रात को देर तक जागकर पढ़ने के अपने-अपने फायदे और नुकसान हैं, जिनके बारे में हम आगे बात करने वाले हैं, लेकिन उससे पहले हम बात करेंगे की, जो विद्यार्थी रात को ही पढ़ना चाहते हैं, वे देर रात तक पढ़ाई कैसे करें?

देर रात तक पढ़ाई करने के बेहतरीन तरीके –

हमेशा बैठकर पढ़ें –

अगर आपको अभी रात में पढ़ने की ज्यादा आदत नहीं है तो आपको लेटकर पढ़ने से बचना चाहिए क्योंकि, इससे आपको जल्दी ही नींद आने लगेगी। बहुत सारे विद्यार्थियों की आखों से, लेटकर पढ़ने की बजह से आँसू भी आने लगते हैं, इसलिए आपको कुर्सी पर बैठकर, अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखते हुए पढ़ाई करनी चाहिए।

खाना जल्दी खा लें, वह भी उचित मात्रा में –

खाना खाने के बाद नींद आपको पढ़ने नहीं देगी इसलिए विद्यार्थियों को जल्दी भोजन करने की सलाह दी जाती है।

दिन में नींद जरूर लें –

अगर आपको रात को पढ़ते वक्त नींद बहुत ज्यादा आती है या आलस आता है तो, आपको दिन में 1 घण्टे की नींद जरूर लेनी चाहिए। इससे आपको रात के 11-12 बजे तक नींद नहीं आएगी और आप आसानी से पढ़ सकते हैं।

अपना पसंदीदा बिषय पढ़ें –

जिन विद्यार्थियों को अभी रात को पढ़ने की बिल्कुल भी आदत नहीं है, उन्हें शुरुआत में रात को अपना पसंदीदा बिषय ही पढ़ना चाहिए। बाद में जब आपको रात में जागने की आदत हो जाए, फिर आप किसी भी बिषय को पढ़ सकते हैं।

मुँह धोकर पढ़ने बैठे –

वैसे तो यदि आपको नींद आए तो आपको अपने साथ जबरदस्ती नहीं करनी चाहिए और नींद ले लेनी चाहिए लेकिन, यदि आपने पूरी नींद ली है फिर भी नींद आ रही है (केवल पढ़ते वक्त) तो आपको अपने चेहरे को ठण्डे पानी से धोकर पढ़ाई के लिए बैठना है। एक बार मुँह धोने के बाद आपको अगले 2 घण्टे तक नींद नहीं आएगी।

अन्तिम शब्द –

हमें आशा है कि आपको यह पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी और आपको पता चल गया होगा कि, किस समय पढ़ना सही है और देर रात तक पढ़ने के तरीके क्या-क्या हैं? इस पोस्ट में अन्य काफी महत्वपूर्ण बातें बताने की कोशिश की गई हैं, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी है तो, कमेन्ट में जरूर बताएं और अपने ऐसे दोस्तों को जरूर शेयर करें जो, पढ़ने के लिए सही समय का निर्धारण नहीं कर पा रहे हैं या देर रात तक नहीं पढ़ पाते हैं।

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment

अर्निंग ऐप्स से पैसे कैसे कमाए (3 धाँसू ऐप्स) कब्ज से छुटकारा पाने के लिए 99% कारगर घरेलू नुस्खे गर्मियों में छाछ पीने के 5 गजब के फायदे जल्दी वजन घटाने के लिए एलोवेरा है जबरदस्त लड़कों की इन आदतों पर फिदा हो जाती हैं लड़कियाँ