विधायक का टिकट कैसे मिलता है (विधायक बनने के लिए पर्दे के पीछे की रणनीति)

विधायक का टिकट कैसे मिलता है – राजनीति को कुछ समय पहले काफी गन्दा फील्ड समझा जाता था और आम आदमी राजनीति में आने का विचार शायद सोचता भी नहीं था लेकिन, अभी कुछ समय पहले से ही राजनीति को लेकर लोगों के नजरिए में काफी बदलाब देखने को मिल रहा है।

अब तो देश के बहुत सारे युवा भी देश की पॉलिटिक्स में रूचि लेने लगे हैं। वे जानना चाहते हैं की विधायक कैसे बनें या उससे पहले किसी पार्टी से टिकट कैसे लें? ऐसे ही अनेकों सवाल मन में तभी आते हैं जब, घर परिवार का कोई सदस्य राजनीति में न हो।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

अगर आपकी फैमली में आपको कोई राजनति सिखाने वाला नहीं है और आप ही पहले व्यक्ति हैं जो इस फील्ड में जाना चाहते हैं और समाज में कुछ अच्छे बदलाव करना चाहते हैं तो, यह पोस्ट आपके लिए ही है।

इस पोस्ट में केवल विधायक बनने की प्रक्रिया की नहीं बल्कि 3-4 महत्वपूर्ण पॉइंट्स पर भी बात की गई है, जिससे आपको टिकट पाने में और विधायक का चुनाव जितने में मदद मिलेगी। आइये एक-एक करके प्रश्नों के उत्तर जानते हैं।

विधायक कौन होता है, उसका क्या कार्य होता है?

विधायक विधानमंडल का सदस्य होता है, जिसे आम जनता अपना वोट देकर अपना प्रतिनिधि बनाती है। विधायक को एमएलए भी कहां जाता है। किसी राज्य के सभी विधायक मिलकर ही राज्य में सरकार बनाते हैं। राज्य के मुख्यमंत्री और मंत्रियों का चुनाव विधायकों की मीटिंग में ही होता है।

इसे भी पढ़ें: गरीब से अमीर कैसे बन सकते हैं?

विधायक जनता से डायरेक्ट जुड़ा होता है और उनकी समस्या का समाधान करता है। विधायक कार्यपालिका पर तो नजर रखता ही है साथ ही उसको राजकीय कोष की जिम्मेदारी भी दी जाती है। विधायक भारत का प्रधानमंत्री चुनने की भूमिका निभाता है लेकिन इन सभी कार्यों में सबसे महत्वपूर्ण कार्य यह है की, वह कानून बनाता है। इसी के साथ-साथ विधायक उन सभी कार्यक्रमों और योजनाओं की देखभाल रखता है जो कार्यकारी क्रियान्वयन करते हैं।

कौन व्यक्ति विधायक बन सकता है?

विधायक का चुनाव लड़ने के लिए बहुत ज्यादा योग्यता की जरुरत नहीं हैं। आइये जानते हैं ये सभी योग्यताएं क्या-क्या हैं –

  • विधायक का चुनाव लड़ने के लिए आप भारत के नागरिक होने चाहिए।
  • आपकी उम्र 25 बर्ष से कम नहीं होनी चाहिए।
  • आपको पहले से ही भारत सरकार के किसी भी लाभ के पद पर नहीं होना चाहिए।
  • उम्मीदवार की मानसिक स्थिति ठीक होनी चाहिए।
  • आपको उस राज्य में किसी भी निर्वाचन क्षेत्र का मतदाता होना जरूरी है, जहाँ आप उम्मीदवार हैं।
  • उम्मीदवार का पहले कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए।

विधायक का चुनाव कैसे किया जाता है?

विधायक का चुनाव सीधे जनता द्वारा किया जाता है। प्रत्येक 5 बर्ष के बाद विधानसभा के चुनाव होते हैं, जिसमें जनता विधानसभा के इन सदयों को बोटिंग करके चुनती है।

विधायक की सैलरी कितनी होती है?

प्रत्येक स्टेट में विधायक की सैलरी अलग-अलग होती है। इस पोस्ट में हम आपको उत्तर प्रदेश में विधायक की सैलरी के बारे में जानकरी देंगे। 2022 की एक रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश के विधायकों की 1 महीने की सैलरी लगभग 90-95,000 रूपये के आस-पास है, इसमें बेसिक सैलरी केवल 17,500 रूपये ही है।

विधायक का चुनाव लड़ने में कितना पैसा लगता है?

यह लिमिट चुनाव आयोग तय करता है की, आप चुनाव में कितना पैसा लगा सकते हैं। सच्चाई यह है की विधायक जैसे बड़े पद को पाने के लिए पैसे को पानी की तरह बहाया जाता है, इसलिए आमतौर पर यह माना जाता है की, जो चुनाव आयोग द्वारा तय की गई अधिकतम लिमिट होती है, वह तो खर्च होने वाले पैसे की कम से कम लिमिट होती है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश पुलिस में कॉन्स्टेबल कैसे बनें?

2022 UP विधानसभा चुनाव के समय चुनाव आयोग ने प्रचार की लिमिट को काफी बढ़ा दिया था, जिसमें प्रत्याशी 40 लाख रूपये तक चुनाव प्रचार में खर्च कर सकता है।

विधायक बनने के बाद क्या परेशानी आती हैं?

जो लोग समाजसेवा के लिए विधायक बनते हैं, वे तो विधायक बनने के बाद समाज के लिए बहुत अच्छे-अच्छे कार्य करने में लगे रहते हैं लेकिन, जिनका मकसद विधायक पद का गलत लाभ उठाना होता है, वे हमेशा परेशान रहते हैं क्योंकि, अब उस तरह की राजनीति नहीं रही है।

अब आपको जनता के बीच रहना पड़ता है, अपने बहुत सारे शौक को छोड़ना पड़ता है, अपने परिवार को देने के लिए समय नहीं मिलता है और उसके बाद भी बहुत सारे लोग हमेशा आपकी बुराई करते दिखेंगे।

आपपर बहुत सारे ऐसे आरोप लगेंगे जिनसे आपको काफी दुःख होगा। अगर आप अंदर से मजबूत नहीं हैं तो, आप परेशान हो जाएंगे। आपको हर दिन जनता के लिए अपनी जेब का पैसा भी खर्च करना होगा और बदले में आपको कोई भी उम्मीद नहीं रखनी होगी।

जो लोग विधायक का रुतवा देखकर इस ओर आना चाहते हैं, उन्हें बहुत ज्यादा विचार करने की जरुरत है। बहुत बड़ा रिस्क है राजनीति करना।

पार्टी किसको टिकट देती है?

पार्टी से टिकट लेने का कोई फिक्स नियम नहीं है। हर पार्टी अपनी विचारधारा और अपने कुछ नियम के आधार पर टिकट देती है इसलिए आपको टिकट कैसे मिल सकता है, यह तभी बताया जा सकता है जब यह पता हो की, आपको किस पार्टी से टिकट लेना है।

प्रत्येक पार्टी में टिकट दें के अपने कुछ नियम हैं लेकिन, फिर भी कुछ ऐसे नियम हैं जो ज्यादातर पार्टी में समान देखने को मिलते हैं। अगर आप उन मापदंडों में फिट बैठते हैं तो, पार्टी आपको टिकट बड़ी ही आसानी से देती है। आइये हम आपको ऐसे चार काम बताते हैं, जिनको करने से पार्टी आपको टिकट देती है –

जनता से जुड़ें –

जनता और जमीन से जुड़ा व्यक्ति जनता को भी प्रिय होता है। जनता ऐसे इंसान पर ही भरोसा करती है जो सुख-दुःख में हमेशा उनके साथ खड़ा रहे। चाहे सुख में आप साथ न रहें लेकिन, दुःख में साथ न रहने पर जनता आपको लालची समझती है और आपपर भरोसा नहीं करती है।

ध्यान रहिए जब तक ज्यादा से ज्यादा लोग आपपर भरोसा नहीं करेंगे पार्टी भी आपपर दाब नहीं खेलेगी। अगर पार्टी से विधायक या किसी भी पद के लिए टिकट चाहते हो तो, जनता का दिल जीतना बहुत जरूरी है।

अपनी पब्लिक स्पीकिंग स्किल को निखारें –

आप देखते होंगे की हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी कितना अच्छा भाषण देते हैं, हमारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी भी भाषण से जनता को बाँधे रखते हैं। अगर आपको भी इन्हीं लोगों की तरह राजनति में जल्दी सफलता चाहिए तो, अपने अंदर भाषण देने की कला को निखारिए।

अगर आप जनता तक अपने मन की बात पहुँचा पाते हैं और जनता आपके साथ हो जाती है तो, पार्टी से टिकट माँगने की जरूरत नहीं पड़ती बल्कि, पार्टी खुद टिकट देती है।

अपनी नॉलेज बढ़ाएं –

आजकल कम पढ़े-लिखे व्यक्ति का विधायक बनना बहुत मुश्किल है। आपने चाहे कोई भी क्लास पास की है यह महत्वपूर्ण नहीं है। आपको नॉलेज कितना है, यह सबसे महत्वपूर्ण बात है। आपको रजनीति में चल रहे मुद्दे पता होने चाहिए उनपर पार्टी की क्या राय है, इसकी जानकारी भी आपको होनी ही चाहिए।

इसे भी पढ़ें: अपने लक्ष्य को कैसे पाएं?

इसके अलावा इतिहास, भूगोल, राजनीति से जुड़े किसी भी मुद्दे पर बोलने के लिए आपके पास पर्याप्त नॉलेज तो होनी ही चाहिए।

पार्टी में पकड़ बनाएं –

आप यदि पार्टी के मुख्य लोगों में अपनी पकड़ बना सकते हैं तो, आपको पार्टी से टिकट मिलने की संभावना काफी बढ़ जाती है। ध्यान रखने वाली बात यह है की पार्टी का कोई भी बड़ा व्यक्ति भी आपको तभी सपोर्ट कर सकता है, जब आप कहीं न कहीं उसके काम आएँगे।

अंतिम शब्द –

आप इस पोस्ट को जितने ध्यान से पढ़ेंगे आपको उतनी ही ज्यादा अच्छे से साड़ी बातें समझ में आएगी। आशा करता हूँ आपको इस पोस्ट में दी गई जानकारी पसंद आयी होगी और अब आपके मन में जो सवाल था की, विधायक का टिकट कैसे मिलता है, उसका उत्तर आपको पता चल चुका होगा।

अब आपका कर्तव्य है की इस पोस्ट को ऐसे जानने वालों के साथ शेयर करो जो, पार्टी से टिकट लेना चाहते हैं या जिनको राजनीति में थोड़ा-सा भी इंटरेस्ट है।

Leave a Comment