घर का शीशा टूटना देता है यह शुभ संकेत, जानिए वास्तु शास्त्र क्या कहता है

अगर घर में किसी से गलती से काँच टूट जाए तो नुकसान तो होता ही है लेकिन, लोग घर के काँच के खुद से चटक जाने को भी अपशकुन मानते हैं। जबकि ऐसा नहीं है यह हर बार अशुभ संकेत नहीं देता है बल्कि, वास्तु के हिसाब से घर में काँच का टूटना कुछ शुभ संकेत भी देता है।

यदि आपके घर में खिड़की अथवा दरवाजों में लगा काँच अचानक ही बिना किसी कारण चटक जाता है तो, ऐसा कहा जाता है की, यह एक संकेत है की आने वाले समय में आपको कोई न कोई खुशखबरी मिलने वाली है। वास्तु शास्त्र के हिसाब से यह अशुभ नहीं माना जाता है।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

इसमें खुशखबरी का मतलब होता है की, आपके घर में पैसा या फिर आपके घर का सदस्य किसी नये मुकाम को पा सकता है। इसके अलावा काँच का टूटना कुछ अन्य चीजों का भी संकेत देता है, जिसे नीचे बताया गया है –

लम्बे समय से चला आ रहा मन-मुटाव शांत होगा –

घर का काँच अचानक टूटने पर वास्तु शास्त्र कहता है की यह इस बात का संकेत हैं की, आने वाले समय में आप बहुत समय से चलता आ रहा विवाद शांत होने वाला है। इसके साथ-साथ यह भविष्य की एक और जानकारी देता है की यदि आपके घर का मेंबर की सेहत कुछ ज्यादा खराब है तो अब उसमें सुधार आना शुरू हो जाएगा।

टल गई है कोई दुर्घटना –

शीशे का अचानक से टूटने के बारे में वास्तु शास्त्र बताता है की, आपके घर पर जो विपत्ति आने वाली थी उसे शीशे ने अपने ऊपर लेकर आपके घर की रक्षा कर ली है और बला अब टल चुकी है। ऐसे में भी यह शुभ माना जाता है और कहते हैं की शीशा जैसे ही टूटकर गिर जाए उसे घर में ही रखने के बजाय तुरंत घर से बाहर कर देना चाहिए।

जब भी काँच टूट जाए तो शोर मचाने के बजाय शांति से उसे घर से बाहर पहुँचा देना चाहिए।

कभी घर न लाएं ऐसा आइना –

अक्सर फैशन के दौर में लोग अपने घरों में अलग-अलग डिज़ाइन के सुन्दर-सुन्दर आइने लगाते हैं, जिसमें कोई बुराई नहीं है लेकिन, वास्तुशास्त्र कुछ ऐसे शीशे हैं जिन्हें घर में लगाने के लिए मना करता है।

वास्तु के हिसाब से ऐसा आइना जिसमें हम रोज अपना चेहरा देखते हैं वह कभी भी गोल अथवा अंडाकार नहीं लगाना चाहिए। ऐसा कहते हैं की अंडाकार या गोल शीशा लगाने से घर में नकारात्मक ऊर्जा फैलती है क्योंकि, इस आकार का शीशा घर की सकारात्मक ऊर्जा को भी नकारात्मक बना देता है, जिसकी बजह से घर के सदस्यों का व्यवहार बदलने लगता है।

घर के ही जब भी आप आइना लाएं तो इस बात का ध्यान रखें की उस आईने का आकार चौकोर होना चाहिए।

Disclaimer – इस पोस्ट में लिखी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं के आधार पर लिखी गई हैं।HindiRaja.in इनकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनमें से किसी भी बात को फॉलो करने से पहले इस बिषय के जानकार से राय जरूर लें।

Leave a Comment