बजरंबली के ये 12 नाम याद कर लो, जल्दी नहीं आएगी मौत (बढ़ेगी उम्र और बुद्धि)

मंगलवार के दिन अगर आप हनुमान जी की पूजा, व्रत आदि करते हैं तो, आपका मंगल होने से कोई नहीं रोक सकता है। शनिवार और मंगलवार का दिन सभी बजरंगबली के भक्तों के लिए बहुत ख़ास होता है। इस दिन व्रत रखना और बंदरों को भोजन कराना अच्छा माना जाता है।

इस दिन हनुमान जी को खुश करने के लिए भक्त व्रत रखते हैं, लेकिन साथ में यदि आप उस दिन भगवान के इन चमत्कारी नाम का स्मरण करेंगे तो, भगवान का आशीर्वाद आपको जल्दी प्राप्त करने में मदद मिलेगी। इन नामों के स्मरण से आपकी उम्र भी बढ़ेगी और शारीरिक बल में भी बढ़ोत्तरी आप खुद भी अनुभव कर पाएंगे।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

ऐसा नहीं की इसके बाद आप घर, पति-पत्नी, परिवार को छोड़ देंगे बल्कि, इससे अगर आप चाहेंगे तो दुनिया के भौतिक सुखों का आप आनंद ले पाएंगे बस, इसके बाद भी मन में मलिनता को नहीं लाना है वरना, अच्छा फल देने वाले हनुमान जी बुरे कर्मों का दण्ड भी कठोर ही देते हैं।

ऐसा कहते हैं नीचे दी गई टेबल में हमने आपको जो नाम बताए हैं, इसके जाप करने वाला इंसान हनुमान जी को प्रिय हो जाता है और भगवान हर समय उसकी रक्षा करते हैं, कई लोगों को तो इसका अहसास भी होता है। इसलिए व्रत वाले दिन बजरंगबली के इन बारह नामों का जाप करना न भूलें।

नाम स.नाम
1.ॐ हनुमान
2.ॐ अंजनी सुत
3.ॐ वायु पुत्र
4.ॐ महाबल
5.ॐ रामेष्ठ
6.ॐ फाल्गुण सखा
7.ॐ पिंगाक्ष
8.ॐ अमित विक्रम
9.ॐ उदधिक्रमण
10.ॐ सीता शोक विनाशन
11.ॐ लक्ष्मण प्राण दाता
12.ॐ दशग्रीव दर्पहा
संपूर्ण हनुमान द्वादशनाम स्तोत्र:ॐ हनुमान् अंजनी सूनुर्वायुर्पुत्रो महाबलः, श्रीरामेष्टः फाल्गुनसंखः पिंगाक्षोऽमित विक्रमः।
उदधिक्रमणश्चैव सीताशोकविनाशनः, लक्ष्मणप्राणदाता च दशग्रीवस्य दर्पहा।।
एवं द्वादश नामानि कपीन्द्रस्य महात्मन:। स्वाल्पकाले प्रबोधे च यात्राकाले य: पठेत्।।
तस्य सर्वभयं नास्ति रणे च विजयी भवेत्। राजद्वारे गह्वरे च भयं नास्ति कदाचन।।
स्तोत्र का अर्थहनुमान, अंजनीसुत, वायुपुत्र, महाबली, रामेष्ट, फाल्गुन सखा, पिंगाक्ष, अमित विक्रम, उदधिक्रमण, सीता शोक विनाशन, लक्ष्मण प्राणदाता, दशग्रीव दर्पहा. वानरराज बजरंगबली के इन बारह नामों का जाप सुबह, दोपहर और शाम में हर पहर करता है, वह हर प्रकार के भय से मुक्त रहता है और विजयी होता है।

Disclaimer – इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं के आधार पर लिखी गई हैं। HindiRaja.in इनकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनमें से किसी भी बात को फॉलो करने से पहले इस बिषय के जानकार से राय जरूर लें।

Leave a Comment