परीक्षा में फेल होने के बाद क्या करें? ऐसे बनाए आगे की पूरी रणनीति

एग्जाम में फेल होने के बाद क्या किया जा सकता है – कई बार जाने-अनजाने में बच्चों से कुछ गलती हो जाती हैं। जैसे कई बार बच्चे अपने एग्जाम को लेकर ज्यादा सीरियस नहीं होते हैं, जिस कारण से वे फेल हो जाते हैं मन में भविष्य को लेकर सवाल आना तो स्वाभाविक है की, अब परीक्षा में फेल होने के बाद क्या करें?

अगर आप या आपका कोई जानने वाला स्टूडेंट परीक्षा में फेल हो गया है तो, इस पोस्ट को बहुत ही ध्यान से पढ़ें क्योंकि, इस पोस्ट में आपको परीक्षा में फेल होने के क्या-क्या करना चाहिए और आप क्या-क्या कर सकते हैं, इसपर विस्तार से चर्चा की गई है।

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

फेल होने के बाद की टेंशन –

फेल होने के बाद बहुत सारे बच्चे डिप्रेशन में चले जाते हैं क्योंकि, उनको सब तरफ से बहुत ज्यादा अलग-अलग तरह की बाते सुनने को मिलती है। अपनी गलतियों से सीखना चाहिए लेकिन, गलतियों की बजह से मिली हार के सामने हार जाना भी कोई दिमाग का काम नहीं है।

अगर आप फेल हो चुके हैं तो, अब आप इस बार के रिजल्ट को तो बदल नहीं सकते इसलिए टेंशन लेने का भी कोई फायदा नहीं है। जहाँ तक आस-पास वाले लोगों की बात है, वे सभी ज्यादा से ज्यादा 1 महीने तक ही इस बारे में बोलेंगे।

इसे भी पढ़ें: बिना ज्यादा पढ़ें परीक्षा में पास कैसे हों?

टेंशन कम करने का सबसे अच्छा तरीका है की, कुछ दिन आपको ताने देने वाली सभी बातों पर ध्यान ही मत दो। इससे आप डिप्रेशन में जाने से बच जाएंगे। अब समय है जब आप आने वाले समय के बारे में विचार करें।

आप इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़िए अंत तक आपको बहुत सारी चीजें क्लियर होने लगेंगी।

एग्जाम में फेल होने के बाद ये कर सकते हैं –

आप यदि परीक्षा में फेल हो गए हैं तो, इसके दो कारण हैं या तो आपका पढ़ाई में बिल्कुल भी इंट्रेस्ट नहीं है या आपने इस बार एग्जाम को बहुत ज्यादा हल्के में ले लिया जिस गलती की बजह से आप फेल हो गए हैं। ऐसे में आपके पास 2 विकल्प हैं –

  • आप पढ़ाई छोड़ सकते हैं।
  • आप अगली बार के लिए मेहनत कर सकते हैं।
  • पढ़ाई के साथ कुछ और ट्राय कर सकते हैं।

क्या फेल होने के बाद पढ़ाई छोड़ना सही है?

अगर आप जानते हैं की आपको पढ़ाई में तनिक भी रूचि नहीं है और आप अगली बार भी अगर एग्जाम देंगे तो, फेल होने की सम्भवना लगभग 70-80% हैं तो, मेरा मानना है की ऐसे में आगे फिर से पढ़ाई करना उतना भी सही नहीं है (यह प्रतियोगी परीक्षा देने वाले स्टूडेंट के लिए नहीं है)।

पढ़ाई छोड़ने पर क्या विकल्प हैं?

पढ़ाई छोड़ने पर यदि आपकी उम्र 18 बर्ष से अधिक है तो, आप अपने पसंद के किसी फील्ड में जॉब कर सकते हैं या आप घरवालों की मदद लेकर अपना कोई बिजनेस शुरू कर सकते हैं। बिजनेस ऑनलाइन या ऑफलाइन या फिर दोनों ही तरह से किया जा सकता है।

फिर भी अगर आपने अभी 12th भी पास नहीं किया है तो, आपको पढ़ाई नहीं छोड़नी चाहिए और फिर से प्रयास करना चाहिए। ऐसे में पोस्ट में आगे बताई गई जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण हैं।

क्या फेल होने के बाद फिर से प्रयास करें?

ऐसे सभी स्टूडेंट्स जो किसी भूल की बजह से परीक्षा में फेल हो गए हैं लेकिन, वे पढ़ाई में इतने कमजोर भी नहीं हैं तो, आपको फिर से उसी क्लास में पढ़ना चाहिए और मुझे लगता है की, ज्यादातर स्टूडेंट्स इसी को चुनेंगे भी।

लेकिन अबकी बार आपको कौन-कौन सी गलतियाँ नहीं करनी हैं, इसपर भी ध्यान देना जरूरी हैं। साथ ही कौन-कौन से चीजें करनी है ताकि, आप अगली बार अच्छे अंकों से पास हो सकें, आइये यह भी जानते हैं –

#1. अपनी गलती को पहचानें और मानें –

सबसे पहले अपनी गलती को खुद से पहचनना जरूरी है की, आखिर इस बार फेल होने का मुख्य कारन क्या है? हो सकता है की आपके माँ-बाप भी आपको आपकी गलती के बारे में बता रहे हो, ऐसे में उनकी बात को गलत साबित करने से पहले यह सोचें की क्या वह सही कह रहे हैं?

इसे भी पढ़ें: परीक्षा में 90% अंक लाने के लिए क्या करना चाहिए?

अगर उनकी बात में सच्चाई है तो, अब आपको उस गलती को मानना है और अब उसको सुधारने पर सबसे ज्यादा ध्यान देना है। गलतियाँ बहुत सारी हो सकती हैं जैसे –

गलत संगत –

आप जिन दोस्तों के साथ रहते हैं, अगर वे भी फेल हो गए हैं तो आपको उन दोस्तों के साथ नहीं रहना चाहिए। अगर आपके साथी पास हो गए हैं और ग्रुप में केवल आप फेल हो गए हैं तो, आपको अपने उन्हीं दोस्तों से सीखना चाहिए कि वे किस तरह से पढ़ाई करते हैं कि परीक्षा में भी पास हो गए हैं और आपके साथ मस्ती में भी शामिल थे।

फेल होने के बाद होशियार बच्चों के साथ रहो,

चाहे वे साथी होशियार हों या पढ़ाई में कमजोर हों, अगर आपको गलत कामों के लिए आगे बढ़ाते हैं तो, आपको ऐसी संगति में नहीं रहना चाहिए क्योंकि, यह कहावत काफी हद तक सही है की, “जैसी संगत वैसी रंगत”।

अंतिम शब्द –

अगर आप उपरोक्त सभी बातों को ध्यान से पढ़ेंगे तो आपको फेल होने के बाद कि रणनीति बनाने में काफी सहायता मिलेगी। अगर आप थोड़े चिंतित हैं तो आप थोड़े दिन के लिए बाहर घूमने निकल जाएं कुछ दिन बाद आपका मन खुद ही शांत हो जाएगा।

एक प्रश्न: हाइवे के बीच में पेड़-पौधे क्यों लगाए जाते हैं?

इसमें किसी भी तरह का कोई गलत कदम उठाने की कोई जरूरत नही है क्योंकि, देश में आज भी ऐसे बहुत सारे पैसे वाले हैं जो शायद पढ़ाई में उतने अच्छे नहीं थे।

आशा करता हूँ आपने इस पोस्ट से कुछ सीख ली होगी।

Leave a Comment