जानिए रात में पढ़ने के अद्भुत फायदे। लेकिन नुकसान भी कम नहीं हैं

रात में पढ़ने के फायदे – आज का बिषय बहुत ही महत्वपूर्ण है। मैं आपके साथ अपना कुछ अनुभव भी शेयर करने वाला हूँ जिसमें, मैं आपको रात में पढ़ाई करने के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाला हूँ।

जहाँ तक बात है की आपको यह जानकारी दे कौन रहा है तो, मैं आपको बता दूँ कि अपनी स्टूडेंट लाइफ में कक्षा 1-9 तक कभी भी ऐसा नहीं हुआ की, मेरा क्लास में टॉप 3 में से कोई सा भी स्थान न आया हो, साथ में मुझे रात में पढ़ने का शौक था, इसलिए आप मेरी बातों पर विश्वास कर सकते हैं। चलिए पोस्ट में मुख्य मुद्दे की बात पर आते हैं –

Image पर क्लिक करें और सीक्रेट टिप्स जानें.

रात में पढ़ने के बड़े नुकसान –

अक्सर बहुत सारे स्टूडेंट गूगल या यूट्यूब पर रात में पढ़ने के फायदों के बारे में जान लेते हैं, लेकिन उनको इसके भारी नुकसान के बारे में नहीं पता होता है। लगातार लंबे समय तक रात में पढ़ाई करने के बाद आपको जो चीज समझ आने वाली है, आप उन्हें इस पोस्ट में पढ़कर समझ सकते हैं। आइये जानते हैं –

याद्दाश्त कमजोर –

वैसे ऐसा कहा जाता है की, जो लोग रात को पढ़ते हैं वे बहुत ज्यादा इंटेलिजेंट होते हैं और उनकी याद्दाश्त भी अच्छी होती है लेकिन, जब आप रात में देर तक पढ़ते हैं तो, आपकी नींद खराब होती है और आप दिन में उतनी अच्छी नींद नहीं ले पाते हैं। जिसका असर आपके दिमाग पर भी पड़ता है और आपकी याद्दाश्त समय के साथ कमजोर होती जाती है।

इसे भी पढ़ें: टॉपर बनने के लिए कितने घण्टे पढ़ना चाहिए?

ऐसा आपको शुरुआत में नहीं पता चलेगा लेकिन, जब आप लम्बे समय तक रात में पढ़ाई करना जारी रखेंगे तो, आपको यह जरूर महसूस होगा। इसलिए यह एक बड़ा रीज़न है जो रात में पढ़ने वालो को जानना चाहिए।

(यदि फिर भी रात में पढ़ते हैं तो, ध्यान रखें की उसकी बजह से नींद पर कोई असर न पड़े इसलिए रात के 11-4 बजे के बीच नींद जरूर लें।)

पोस्ट के अंत में निष्कर्ष पढ़ना न भूलें, वरना आप गलत जानकारी के साथ पोस्ट से बाहर चले जाएंगे।

डार्क सर्कल की समस्या –

रात में जो भी स्टूडेंट्स पढ़ते हैं उनके लिए यह समस्या आम है। आप चेहरे पर महंगे प्रोडक्ट्स प्रयोग करके उन्हें दबा तो सकते हैं लेकिन, यदि आपको रात में पढ़ने की आदत है तो, आपके सामने यह समस्या जरूर ही आएगी।

चेहरे की सुंदरता को खराब करने के साथ-साथ डार्क सर्कल से यह भी पता चलता है की, आप नींद पर्याप्त नहीं ले पा रहे हैं। देर रात तक जागने और क्वालिटी नींद न ले पाने की बजह से आपको पूरे दिन थकान जैसा भी महसूस होता रहेगा।

पाचन से सम्बंधित समस्या –

जो बच्चे रात को देर तक जागते हैं, जाहिर-सी बात है की उनके सुबह जल्दी उठने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता है। जिसकी बजह से ऐसे स्टूडेंट्स बहुत ज्यादा आलस भी महसूस करते हैं और बहुत कम स्टूडेंट्स शाम के समय व्यायाम आदि करते हैं, जिसकी बजह से उन्हें हमेशा पेट से जुड़ी समस्या जैसे – कब्ज, गैस आदि समस्या रहती है।

पेट से जुड़ी एक समस्या पेट की अनेक समस्याओं को जन्म देती है और इसका मूल कारण यही है की लोग सुबह जल्दी नहीं उठ पाते हैं।

नींद से जुड़ी समस्या –

अगर आप ऑनलाइन पढ़ाई करते हैं तो, रात में देर तक स्क्रीन के सामने रहने की बजह से आपको कुछ समय बाद नींद से जुड़ी समस्या पैदा हो सकती है। जिसमें आपकी नींद कम होने की समस्या पैदा हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: पढ़ाई में मन कैसे लगाए?

बहुत सारे स्टूडेंट्स यह सुनकर खुश हो जाते हैं की, चलो अब नींद कम आएगी लेकिन, ऐसा नहीं है की आपको नींद कम आएगी बल्कि आपको आलस पूरे दिन आएगा और नींद भी नहीं आएगी।

नींद पूरी न होने पर आपको सर में दर्द, आलस, थकान जैसी समस्या महसूस हो सकती हैं। इन सभी समस्याओं का एक कारण यह है की, आप रात को पर्याप्त नींद नहीं लेने के बजाय पढ़ाई करते हैं।

व्यर्थ विचार –

ऐसे विद्यार्थी जो रात में पढ़ाई करते हैं वे शुरुआत से ही इस बात को नोटिस कर सकते हैं की, रात में वे पढ़ते तो कुछ ही घंटे हैं वरना, यदि कुछ भी दिमाग में आ जाये तो बहुत सारे समय व्यर्थ के विचारों में खोये हुए ही निकल जाता है।

अगर आपके साथ भी ऐसा होता है की, रात के समय आप ज्यादा अधिक सोचते हैं तो, कमेंट में जरूर शेयर करें। बहुत सारे बच्चे रात में अकेले होने पर इंटरनेट का गलत इस्तेमाल भी करते हैं, जिसकी खबर उनके माँ-बाप को बिल्कुल भी नहीं होती है।

समय मैनेज करने की समस्या –

अगर आप रात में पढ़ाई करते हैं तो, आप समय को उतने ज्यादा अच्छे तरह से कभी मैनेज नहीं कर पाएंगे जितनी अच्छी तरह एक सुबह जल्दी उठकर पढ़ने वाला विद्यार्थी कर पाएगा। आपका दिन ही जब देर से शुरू होगा तो, आप सुबह की ताज़ी हवा में श्वास लेकर अच्छा महसूस भी नहीं कर पाएंगे।

यदि आप अभी स्कूल जाते हैं तो, और भी बड़ी समस्या यह आ जाएगी की अब आपको स्कूल में क्लास में पढ़ाई में मन नहीं लगेगा बल्कि, आपको ज्यादा अच्छे से समझ में भी नहीं आएगा और आपको पूरे दिन शरीर में ऊर्जा की कमी महसूस होगी।


रात में पढ़ने के अद्भुत फायदे –

ऐसा नहीं है की रात में पढ़ने के केवल नुकसान ही हैं बल्कि, रात में पढ़ने के कुछ बड़े नुकसान भी हैं। मैं खुद रात में पढ़ाई करता था इसलिए मुझे कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण कारणों के बारे में पता है जिसकी बजह से मैं रात में ही पढ़ना पसंद करता था। आइये आपको बताते हैं की रात में पढ़ाई करने से आपको कौन-कौन से फायदे मिलेंगे?

शांत वातावरण –

रात में पढ़ने का यह मुझे सबसे बड़ा फायदा लगता था की, मैं रात में खाना खाने के बाद घण्टों तक लगातार पढ़ पाता था और मुझे रात में बाहर घूमने का मन भी नहीं करता था और मेरे दोस्त या अन्य कोई मुझे रात में डिस्टर्ब भी नहीं करता था।

इसे भी पढ़ें: पेपर में जाने से पहले क्या करना चाहिए?

रात में पढ़ने का यह सबसे बड़ा कारन था क्योंकि, रात में मन भटकाने वाले दोस्त साथ नहीं होते थे तो, अपने भविष्य से संबन्धित प्रश्न भी मन में खुद ही आते थे जो, मुझे पढ़ाई करने पर मजबूर करते थे। मैं रात में बहुत ज्यादा मोटिवेटेड फील करता था।

क्रिएटिव सोच –

मुझे ऐसा लगता था की मैं रात में ज्यादा यूनिक चीजे करता हूँ। मेरे मन में रात के 1 बजे के करीब बहुत अच्छे-अच्छे आइडियाज आते थे और मैं पढ़ाई के साथ यूट्यूब पर वीडियोस भी बनाता था इसलिए, जो वीडियो के थंबनेल होते थे उन्हें मैं रात को 1 बजे ही बनाता था।

अब मैं रात को देर तक नहीं जागता हूँ क्योंकि, अब मुझे लगता है की मैं सुबह जल्दी उठकर रात के मकाबले ज्यादा ऊर्जा महसूस करता हूँ और मैं सुबह को भी क्रिएटिव सोच सकता हूँ।

ऑप्शन न होना –

रात के समय हमारे मा-बाप घर पर ही होते हैं, जो हमें पढ़ाई के लिए प्रेरित करते हैं। जब हम पढ़ते बैठते हैं तो, हमारे पास पढ़ाई के अलावा बहुत ज्यादा विकल्प नहीं होते हैं क्योंकि, न ही दोस्त पास में होते हैं, न ही हम बाहर घूमने जा सकते हैं इसलिए, पढ़ने के अलावा कोई विकल्प न होने के कारण भी हम रोज रात के समय अच्छे से बिना मन भटके पढ़ाई कर पाते हैं।

रूचि –

कुछ बच्चों और बड़ों को रात में देर तक जागकर ही वर्क करना पसंद होता है। वे सुबह में ज्यादा आलस महसूस करते हैं और वे रात में कितनी भी रात तक जाग लेते हैं, वैसे आपको लग सकता है की आप भी वैसे ही हैं लेकिन, इसकी संभावना बहुत ज्यादा कम है।

सच्चाई यह है की यदि आप अपने मन को यह समझा देते हैं की, आपको सुबह में जल्दी उठना ज्यादा पसंद है तो, आपका मन उसे ही मां लेगा और आपको सुबह जल्दी उठने का ही मन करेगा।

ऐसे बहुत कम लोग होते हैं, जो रात में ही ज्यादा ऊर्जा महसूस करते हैं। ऐसे लोगों को मैं सलाह दूँगा की आपको रात में ही पढ़ना चाहिए।

निष्कर्ष –

मुझे लगता है की आपको रात में पढ़ने के बजाय सुबह के समय पढ़ना चाहिए लेकिन, यदि आपको इस समय रात में पढ़ने की आदत है तो आपको इसे एकदम से नहीं बदलना चाहिए। यदि आप रात के बजाय सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करेंगे तो, आप बहुत सारी शारीरिक और मानसिक परेशानियों से बचे रह सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: पढ़ते वक्त नींद भगाने के तरीके।

कुछ बच्चों का कहना है की वे सुबह को जल्दी नहीं उठ पाते हैं, इसका कारण यह है की वे रात को जल्दी नहीं सोते हैं। अगर वे रात में जल्दी सोना शुरू करेंगे तो, सुबह जल्दी ही खुद से नींद खुल जाएगी।

अगर आप इस समय रात में पढ़ते हैं तो, हमारी सलाह और इस पोस्ट का यही निष्कर्ष है की आपको इस आदत को धीरे-धीरे बदलने का प्रयास करना चाहिए और सुबह जल्दी उठकर योग, व्यायाम आदि करके पढ़ाई करने का प्रयास करना चाहिए।

★ पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। 🙂

Leave a Comment